पारले जी बिस्कुट का इतिहास



IPL मैच के बिच में Parle Platina का विज्ञापन बहुत आता है...तो आज सोचे थोड़ा इतिहास में भी जाए....
सबसे पहले जिस बिस्किट से हमारी पहचान कराई गई थी तो वह था अपना पारले- जी। चाय में डुबो-डुबो कर इसे खाने में कितना मजा आता था न....
यह देश का पहला स्वदेशी बिस्किट कंपनी है

1939 से इस कंपनी ने बिस्कुट बनाने की शुरुआत की। और तब इन्हें पार्ले ग्लूको बिस्किट का नाम दिया गया।
1980 में ग्लूको बिस्किट्स का नाम बदल कर पारले-जी कर दिया गया। इसमें जी का मतलब ग्लूकोज ही है
अब नए वक़्त के साथ पारले जी प्लेटिना के रूप में आपके सामने...

*पारले- जी चीन की बिस्किट बनाने वाली सभी कम्पनीज से अधिक उत्पादन करता है, और चीन दुनिया का 4 सबसे अधिक उत्पादन (बिस्किट का) करने वाला देश है।

You May Also Like

0 comments