असंभव कुछ भी नहीं जब चाहत हो तो सब संभव है




Brian Acton/Jan Koum
असंभव कुछ भी नहीं जब चाहत हो तो सब संभव है इस बात को ब्रायन ऐक्टन (Brian Acton) ने साबित कर दिए .... Brian Acton और हम सब का सबसे लोकप्रिय App… whatsapp के Co-Founder है उन्होंने 2009 में जॉब के लिये Facebook में अप्लाई किया वो Facebook कंपनी में जॉब करना चाहते थे लेकीन उनको वहा से रिजेक्ट किया गया. बाद में उन्होंने ट्विटर पर भी जॉब के लिये कोशिश की लेकीन वहा भी उनके हाथ में निराशा ही आयी. जब किसी के साथ ऐसा बार बार होता है तब उसे अपनी योग्यता पे, अपने Talent पे शक होने लगता है. बहुत से लोग अपनी जिंदगी से हार मान लेते है. परेशान होकर तनाव में आ जाते है.
लेकीन ब्रायन ऐक्टन को खुद पर विश्वास था. कुछ कर दिखाने की इच्छा थी. उनके अंदर खुद को साबित करने की आग थी. उन्होंने दुसरे लोगों की तरह हार मानने की जगह, परेशान होने की जगह अपने दोस्त जेन कूम (jan koum) के साथ मिलकर रात-दिन मेहनत करके एक ऐसा अप्लीकेशन बना डाला जिसे पूरी दुनिया ने सर पर बिठा दिया.
व्हाट्सअप अप्लीकेशन बनाने के पहले जिस Facebook कंपनी ने WhatsApp अप्लीकेशन बनाने वाले ब्रायन ऐक्टन को रिजेक्ट किया था उसी को ठीक 5 साल बाद 2014 में फेसबुक कंपनी ने ब्रायन ऐक्टन के WhatsApp अप्लीकेशन को 19 बिलियन डॉलर यानी भारतीय रुपयों में एक लाख करोड़ से भी ज्यादा रुपयों में खरीदा. ब्रायन ऐक्टन जिस कंपनी में काम मांगने गये थे आज उसी कंपनी के मेजर शेयर होल्डर बन गये.
जिसे खुद पर विश्वास हो मेहनत करने की तैयारी हो उसे हर हाल में सफलता मिलती है. आप अपनी असफलता को किस तरह लेते है. इसपर आपकी सफलता निर्भर करती है. अगर हम अपनी असफलता को एक मौका समझकर आगे बढ़ने की उपयोग में लेते है तो आपको एक ना एक दिन सफलता जरुर मिलेंगी.

याद रखना की एक हार जिंदगी की हार नहीं होती......

You May Also Like

0 comments