"रहस्य"

05.03.2011


मै कुछ दिन पहले RHONDA BYRNE की पुस्तक "रहस्य" पढ़ा.यह

पुस्तक मानव के जीवन की हर रहस्य को आपके सामने ला कर रख देता है..............................????????????????.


हमारे जीवन में हर पल कुछ न कुछ घटता रहता है,अपने जीवन से युद्ध करते रहते, कभी अपने

जीवन से थक जाते, तो कभी नाराज हो जाते,कभी अपने जीवन से हमें बहुत ख़ुशी मिलती है.

जीवन का यह चक्र चलता रहता है .हम हर वह कम कर सकते है जो हमारे महापुरुष कर के

गए बस आपने अंदर वह शक्ति को दुदना है हमारे अंदर सुस्त अवस्ता में एक रहस्य छिपा

हुआ है बस उसे बहार निकलना है.हम हर वह चीज पा सकते है जिसकी हम कल्पना करते है

बस आपने अंदर की वह तरंग को ब्रम्हांड में भेजना है वह आप को दे देगा ,आपनी सोच को

सबसे ऊपर रखे उसे अपने जीवन का महत्पूर्ण पार्ट समझे,पहले अपने जीवन से प्रेम करे,खुद

खुश रहे तभी आप दुसरो को ख़ुशी दे पायेगे...जब तक आप लगातार विचार करके किसी चीज

का आह्वान न करे,तब तक कोई भी चीज आपकी ज़िन्दगी में नहीं आ सकती.आपके विचार

आपके फ्रीक्व्वेंसी तय करता और आपकी भावनाये आपको फ़ौरन बता देती है की आप किस

फ्रीक्व्वेंसी पर है.जब आप बुरा महसूस करते है ,तो आप ज्यादा बुरी चीजो आकर्षित करने की

फ्रीक्व्वेंसी पर होते.जब आप अच्छा महसूस करते है,तो आप ज्यादा अच्छी चीजो को प्रबलता

से अपनी ओर आकर्षित करते है .आपका विचार ही आपका शक्ति है आच्छे विचार से ही हम

नये युग की रचना कर सकते है............

You May Also Like

0 comments