कुछ बाते इंटरनेट की


जब हम इंटरनेट पे कोई काम करते है तो इतना ध्यान रखे की जिस वेबसाइट पे हम काम कर रहे है तो सिर्फ उसी को पहचाने जब आप किसी भी वेबसाइट पर काम करते है तो कभी कभी खुद ब खुद कुछ पेज ओपन हो जाता है,तो उस पेज पे क्लिक ना करे उसमे वायरस भी हो सकता है.हमेसा उसी पेज पे काम करे जिसे आप ओपन किये है इससे आप हैक और वायरस आने का खतरा नहीं रहता ! कभी कभी आपके मेल या सोशल नेटवर्किंग साइट्स में तुम्हें कुछ अनजाने लोग भी मैसेज करते हैं। कभी-कभी तो एक लिंक पर क्लिक करने को कहा जाता है। ऐसे लिंक से पासवर्ड हैक होने का खतरा मंडराता है। हैकिंग यानी कि आपके पासवर्ड पर किसी और का कब्जा। अगर आप किसी दुसरे का कंप्यूटर इस्तेमाल करते हो तो इस्तेमाल से पहले यह देख लें कि कहीं उसमें हैकिंग सॉफ्टवेयर तो डाउनलोड नहीं किया। एड-रिमूव प्रोग्राम में कोई ऐसा प्रोग्राम दिखे, जिस पर शक लगे, वहां से किसी भी पासवर्ड को हैक किए जाने की संभावना अधिक है। अगर कभी भी लगे कि आपका पासवर्ड चुराया जा सकता है तो उसके लिए भी एक आसान तरीका है। जैसे कि अगर पासवर्ड xyz@23 है। सबसे पहले xyz@ टाइप करो और @ को बेकस्पेस से मिटा दो। यही प्रक्रिया एक दो बार अपनाते हुए किसी भी पासवर्ड कैरेक्टर को एक दो बार बैकस्पेस करते हुए दोबारा टाइप करो। जब कोई प्रोग्राम पासवर्ड को हैक करेगा तो xyz@123 जैसा कुछ सामने आएगा, जो गलत होगा। इसकी खास बात यह है कि कितनी बार आपने बैकस्पेस का इस्तेमाल किया प्रोग्राम यह नहीं लेगा, बल्कि कितनी बार आप ने टाइप किया वही दिखाई देगा

You May Also Like

0 comments